स्मार्टफोन (Smartphones) एक ऐसा डिवाइस है जो आपके काम को बेहद आसान बनाने में मदद करता है. टेक्नोलॉजी की दुनिया को समझने का बेहतरीन जरिया भी है. आप सोच रहे होंगे मैं यह सब बातें क्यों कर रहा हूं. दरअसल अगले माह से स्मार्टफोन की कीमतें बढ़ जाएंगी. यदि आप भी स्मार्टफोन के शौकीन हैं. पुराने फोन को हटाकर नया फोन लेने की सोच रहे हैं या एक नया फोन खरीदना चाहते हैं तो इसी माह खरीद लें.

ये है वजह


दिल्ली में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala sitharaman) की अध्यक्षता में शनिवार को जीएसटी  परिषद (GST council) में बैठक हुई. इसमें जीएसटी को लेकर स्मार्टफोन सहित अन्य सेवाओं पर नई जीएसटी दरें (GST rate) लागू करने की योजना बनाई.

भारतीय बाजार में बिकने वाले स्मार्टफोन (smartphones) की दरों में 12% जीएसटी दर (GST rate) को बढ़ाकर अब 18% कर दी गई है. जिससे अब होगा यह की स्मार्टफोन की कीमतों में भी उछाल आएगी. यह नई जीएसटी दर 1 अप्रैल से लागू होगी.

अन्य सेवाओं पर जीएसटी दरें

स्मार्टफोन के अलावा विमानों के रखरखाव में लगने वाली जीएसटी दरों में भारी कटौती कर दी गई है. पहले इनके रखरखाव में 18% जीएसटी देनी पड़ती थी जिसे घटाकर अब केवल 5% कर दी गई है.

इन सबके अलावा परिषद ने हस्त निर्मित एवं मशीनों से निर्मित दोनों प्रकार की माचिस की तीलियों पर जीएसटी की दर को तर्कसंगत कर समान रूप से 12% कर दिया है.

जीएसटी परिषद द्वारा लिए गए दो ओर महत्वपूर्ण निर्णय

इस बैठक में दो करोड़ रुपए तक या उससे कम कारोबार करने वाले यूनिटों को वित्त वर्ष 2017-18 और 2018-19 के लिए वार्षिक रिटर्न भरने में हुई देरी पर लगने वाले विलंब शुल्क माफ कर दिया है. इसमें यह भी निर्णय लिया गया कि अब जुलाई महीने से समय पर जीएसटी भुगतान न करने पर उन पर ब्याज भी लिया जाएगा.

परिषद ने इंफोसिस से जीएसटी नेटवर्क में अधिक दक्ष कर्मचारी लगने एवं जीएसटी नेटवर्क की क्षमता बढ़ाने को कहा है. ताकि इस प्रणाली को किसी तरह की बाधा से मुक्त किया जा सकें. जीएसटी परिषद (GST council) ने कंपनी से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि जुलाई, 2020 यह प्रणाली बेहतर तरीके से काम करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here