एयर ट्रैवल कंपनी “थॉमस कुक” विश्व की सबसे बड़ी ट्रैवल कंपनियों में से है जो पिछले रविवार को बंद हो गई. 178 साल पुरानी ब्रिटिश टूर ऑपरेटर अपने जूझ रहे फंड के कारण ऐसा निर्णय लेना पड़ा. मीडिया खबरों के मुताबिक, कंपनी ने स्टेटमेंट में कहा- “थॉमस कुक कंपनी को बंद करने के अलावा हमारे पास दूसरा कोई विकल्प नहीं.”

जानिए उड्डयन प्राधिकरण नागरिक(CCA) का बयान

यूके की उड्डयन प्राधिकरण नागरिक(CCA) ने कहा- “थॉमस कुक ने अपनी सेवाएं बंद कर दी हैं. इस फ्लाइट कंपनी के जरिए अन्य देश पहुंच चुके ब्रिटिश नागरिकों को घर वापस लाने के लिए रेगुलेटर एवं सरकार मिलकर काम करेगी.
इन ब्रिटिश नागरिकों की कुल संख्या 1 लाख 50 हजार के करीब है.

आगे CCA ने कहा- “थॉमस कुक ने अपना व्यापार बंद कर दिया है. अब इस कंपनी की सारी फ्लाइट रद्द कर दी गई हैं. दुनिया की सबसे पुरानी कंपनी के बंद होने से 22000 लोगों की नौकरियां अब खतरे में पड़ गई है. जिनमें से 9000 नागरिक यूके के हैं.

कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव ने अपने सहयोगीकर्ताओं से मांगी माफी

रविवार को कंपनी के बंद होने के बाद कंपनी के चीफ एग्जीक्यूटिव ने सोमवार की सुबह को एक बयान जारी करते हुए कहा- “मैं अपने लाखों ग्राहकों, हजारों कर्मचारियों, आपूर्तिकर्ताओं एवं साझेदारों से माफी मांगना चाहता हूं. जिन्होंने हमारी कंपनी को कई वर्षों तक सहयोग दिया.” आगे उन्होंने कहा- “यह मेरे और बाकी बोर्ड के लिए अफसोस की बात है, हम सफल नहीं हुए.

आरबीएस ने थॉमस कंपनी को दिया झटका

रॉयल बैंक ऑफ स्कॉटलैंड ने कंपनी थॉमस कुक को दिया था झटका. बैंक के अधिकारी के बयान के अनुसार कंपनी को 200 करोड़ पाउंड के अतिरिक्त फंड की मंजूरी नहीं दी गई.
बता दें, आरबीएस पिछले कई वर्षों से इस कंपनी को सहायता देता आ रहा है.

थॉमस कुक विश्व की सबसे बड़ी कंपनियों में से एक थी. जिसका अब समापन हो गया है. बता दें कि यह कंपनी 16 देशों में 1 साल में 19 मिलियन लोगों के लिए होटलें, रिसॉर्टस एवं एयरलाइंस की सुविधा देती थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here