हरियाणा की रहने वाली नौक्षम चौधरी आज सुर्ख़ियों में है, क्योंकि उन्हें बीजेपी ने हरियाणा के पुनहाना से टिकट दी है. इस वक्त नौक्षम की उम्र 28 वर्ष है. उन्होंने करीब 1 महीने पहले बीजेपी के लिए चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की थी. बता दें कि हरियाणा में उनके पिता जज हैं जबकि उनकी मां आईएएस है.

ठुकराई विदेश में 1 करोड़ की नौकरी

नौक्षम चौधरी करीब 10 भाषाओं को बोलने में सक्षम है. उन्होंने विदेश में रहकर पढ़ाई की है. ट्रिपल एमए की है. विदेश में उन्हें 1 करोड़ की नौकरी का ऑफर भी मिला था. जिसे ठुकरा कर वह अपने गांव पुनहाना में बीजेपी उम्मीदवार पर चुनाव लड़ रही है. वह बोली मैं मेवात की बेटी हूं और अब इसके लिए विकास का काम करूंगी.

टिकट की रेस में रहीस खान को पछाड़ा

बता दें कि इस उम्मीदवार के लिए नौक्षम चौधरी ने वर्तमान विधायक रहीस खान को इस रेस में पछाड़ दिया है. नौक्षम को टिकट दिए जाने पर हर कोई आश्चर्यचकित है. पता हो कि इन्होंने सीएम मनोहर लाल खट्टर की जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान काफी भीड़ जुटाई थी.

मिरांडा हाउस कॉलेज में छात्रसंघ नेता रह चुकी है नौक्षम

25 अगस्त को नौक्षम ने अपने गांव पैमाखेड़ा में बीजेपी की सदस्यता ली थी. दिल्ली के मिरांडा हाउस कॉलेज में छात्रसंघ नेता रह चुकी है नौक्षम. वहीं से उन्हें राजनीति का चस्का लगा है. दिल्ली के कॉलेज से निकलने के बाद 3 सालों तक इटली एवं ब्रिटेन में रही. बीजेपी सरकार मोदी की लोकप्रियता से वह काफी प्रभावित है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here