Modi mask

Modi mask: कोरोना वायरस का खौफ लोगों के जहन में इस कदर बैठ गया है कि क्या बताएं. हालाकि लाजमी भी है. लेकिन इससे सावधानी बरतनी भी उतनी ही जरूरी है. तो बीजेपी ने कोरोना वायरस से बचने के लिए मोदी मास्क बांटे लेकिन अब विवाद हो रहा है. आखिर क्या है पूरा मामला? आइए विस्तार से समझते है.

पश्चिम बंगाल जहां बीजेपी ने कोरोना वायरस से बचने के लिए बीजेपी मास्क बांटे लेकिन अब ट्रोल हो रहे हैं. कोरोना के डर को पार्टी प्रचार में कैसे इस्तेमाल किया जाता है ये बीजेपी से सीख सकते हैं. दरअसल बंगाल बीजेपी ने ऐसे मास्क बांटे जिसमे लिखा है ‘सेव फ्रोम कोरोना वायरस इंफेक्शन मोदी जी.’ तो बीजेपी ने ये को मास्क बांटे हैं अब लोग इसपे सवाल दाग रहे हैं.

इसे भी जानें:-

12 साल पहले ही हो चुकी थी कोरोनावायरस की भविष्यवाणी? इस किताब में मिला सबूत

UP में कोरोना वायरस का दस्तक, आगरा में एक ही परिवार के 6 सदस्यों में पुष्टि

क्या चीन से आने वाली होली के रंगों में कोराना वायरस हो सकता है?

आइए समझते है

कोरोना वायरस एक प्रकार से जानलेवा वायरस है. इस वायरस कि चपेट में आने से हजारों लोगों की जानें चली गई है. तथा लाखों बीमार है. इतना तक तो ठीक है लेकिन हाल ही में भारत में 10 से ज्यादा लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि की गई है. तो ऐसे में भारतीय लोगों के जहन में खोफ और अधिक हो गया है. इसी स्थिति में मार्केटों से लोग 50 रुपए के मास्क 250 रुपए में खरीदने के लिए तेयार है. ऐसी स्थिति में बीजेपी ने मोदी मास्क बांटे है.

अब ऐसी स्थिति में बीजेपी ने मोदी मास्क बांटे. ऐसे मौके में बीजेपी ने लोगों के हित के साथ साथ अपना प्रचार भी कर लिया. लेकिन लोगों ने उस पर भी सवाल दागे. सवाल क्या थे? यहीं की मास्क की क्वालिटी सही नहीं है.

मोदी मास्क के क्वालिटी पर उठे सवाल

बीजेपी के नेताओं ने को मोदी मास्क बांटे है उसपर लोग सवाल उठा रहे है. लोगों का कहना है कि जो मास्क बीजेपी ने बांटे है वर मास्क कोरोन वायरस से बचाव नहीं कर सकता. जानकारी के लिए बता दें कि कोरोना वायरस से बचने के लिए N-95 मास्क होना चाहिए मतलब मास्क में 3 लयेर होने चाहिए.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here