Bhilwada model

क्या है यह Bhilwara model? जिससे Coronavirus patient की संख्या घटी है. भीलवाड़ा जो राजस्थान के जयपुर का एक शहर है, जिसे टेक्स्टटाइलों का शहर के नाम से भी जानते हैं. भीलवाड़ा में 27 Coronavirus patient थे, जिसमें से 17 ठीक हो चुके हैं. इनमें से 9 को डिस्चार्ज भी किया जा चुका है. तो आखिर कैसे ठीक हुई ये पैसेंट? क्या रणनीति या उपाय की गई थी? जिसे अब पूरे देश में लागू करने की बात चल रही है.

कैबिनेट सचिव राजीव गौबा ने राज्यों के मुख्य सचिवों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बैठक की. इस बैठक में उन्होंने Bhilwada model की तारीफ एवं सराहना भी की. और अब इस मॉडल को पूरे देश में लागू करने की राय भी दी है.

Due to Bhilwada model only one corona positive remaining on Bhilwadaबता दें, 19 मार्च को भीलवाड़ा शहर में एक ही अस्पताल के 2 डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. इन दोनों डॉक्टर के संपर्क में तकरीबन 6000 लोग आए थे. शहर में कोरोना वायरस फैलने का जोखिम बढ़ चुका था. इस पर राज्य सरकार ने कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए आक्रामक रणनीतियां अपनाई थी और फिर इस पर काबू पा लिया. टेक्सटाइल शहर भीलवाड़ा में 30 मार्च से अब तक अब केवल एक कोना प्रोजेक्टिव मामला बचा हुआ है. अब केंद्र सरकार ‘भीलवाड़ा मॉडल'(Bhilwara model) को अपनाने के लिए संकेत दिए हैं.

यह भी पढ़ें:- Covid India: महामारी से लड़ने के लिए मोदी समेत सांसदों ने 30% कम धनराशि लेने का किया फैसला

भले ही इस शहर में अब केवल एक ही Coronavirus patient है. परंतु राज्य सरकार कोई जोखिम नहीं लेना चाहती. इसलिए लॉक डाउन की स्थिति बनी रहेगी. इसके तहत जरूरी सामग्रियों को घर-घर तक होम डिलीवरी के माध्यम से पहुंचाया जाएगा. कोरोना संदिग्ध मामलों की दोबारा जांच भी करेंगे.

कुछ दिन पहले राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट किया था. उसमें लिखा था, “राज्य सरकार ने सही समय पर सही फैसले लिए हैं. पूरे देश में राजस्थान द्वारा उठाए गए कदमों की सराहना की जा रही है. कोविड-19 का फैलाव को रोकने के लिए देश के केंद्र सरकार ने भी ‘भीलवाड़ा मॉडल’ की सराहना की है.

यह भी पढ़ें:- कौन है Tablighi Jamaat? क्या कोरोना फैलाना इनकी मकसद? तबलीगी का नेता क्यों हो गया फरार? देखें पूरा वीडियो

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here